पारिवारिक बजट क्या है पारिवारिक बजट के प्रकार Family Budget

प्रस्तावना :-

घरेलू आय-व्यय को संतुलित करने में पारिवारिक बजट प्रमुख भूमिका निभाता है। परिवार के सदस्यों की कई ज़रूरतें होती हैं लेकिन परिवार की आय सीमित होती है और उस सीमित आय से परिवार के सदस्यों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एक अच्छा बजट बनाने की आवश्यकता होती है।

परिवार के सदस्य अपनी सीमित आय से अधिकतम संतुष्टि प्राप्त करने के लिए एक बजट बनाते हैं। पारिवारिक आय के अनुसार विभिन्न मदों पर व्यय किया जाता है। बजट बनाने का मुख्य उद्देश्य परिवार के सदस्यों की आवश्यकताओं को पूरा करना और परिवार की खुशी और संतुष्टि को बढ़ाना है।

बजट में कुछ आय को बचत के लिए भी रखा जाता है ताकि आकस्मिक स्थिति में उस आय को खर्च किया जा सके।

अनुक्रम :-
 [show]

पारिवारिक बजट का अर्थ :-

बजट एक निश्चित अवधि में अनुमानित आय और व्यय का विस्तृत विवरण है। पारिवारिक बजट का मुख्य उद्देश्य निश्चित आय वाले परिवार के सदस्यों की जरूरतों को पूरा करना है। परिवार के सदस्य अपनी आय के अनुसार विभिन्न वस्तुओं पर खर्च करते हैं और अपनी जरूरतों को पूरा करते हैं।

बजट पारिवारिक आय-व्यय में संतुलन बनाए रखता है। एक अच्छा बजट वह होता है जिसमें कुछ आय बचत के लिए भी रखी जाती है ताकि आकस्मिक खर्चों को खर्च किया जा सके।

पारिवारिक बजट की परिभाषा :-

पारिवारिक बजट को और भी स्पष्ट करने के लिए कुछ प्रमुख विद्वानों की परिभाषाओं का उल्लेख कर सकते हैं :-

“बजट भूतकाल के व्यय, अनुमानित भविष्य के व्यय और वर्तमान समय के मदों पर निश्चित व्यय का लेखा-जोखा है।”

क्रेग और रश

“पारिवारिक बजट पारिवारिक आय को व्यवस्थित रूप से व्यय करने का एक तरीका है ताकि परिवार के सदस्यों की सुख और कल्याण में वृद्धि हो सके।”

बेवर

“पारिवारिक बजट भूतकाल के खर्चों का एक विवरण है जिसमें भविष्य के खर्चों और वितरण का ब्यौरा रहता है, जो अलग-अलग समय पर विभिन्न कार्यों पर खर्च किया जाता है।”

महेन्द्र के. मान

पारिवारिक बजट का सिद्धांत:-

एन्जिल क्रीज के अनुसार, पारिवारिक बजट के निम्नलिखित सिद्धांत हैं:-

आय से अधिक व्यय नहीं होना चाहिए :-

बजट बनाते समय परिवार के सदस्यों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि खर्च आय से अधिक न हो। यदि व्यय आय से अधिक होगा तो परिवार के सदस्यों में वित्तीय असुरक्षा की भावना पैदा होगी और परिवार के सदस्यों को अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए उधार लेना पड़ सकता है।

अधिक आवश्यक वस्तुओं पर सर्वप्रथम व्यय करना चाहिए :-

बजट बनाने के इस सिद्धांत के अनुसार, बजट बनाते समय परिवार के सदस्यों को सबसे पहले सबसे महत्वपूर्ण वस्तुओं जैसे भोजन, कपड़े, आवास, शिक्षा, चिकित्सा आदि पर खर्च करना चाहिए।

व्यय को कम करने के लिए सावधानी बरतनी चाहिए :-

बजट बनाते समय हमें कम खर्च करने पर ध्यान देना चाहिए। विलासिता की वस्तुओं का कम प्रयोग करके हम पारिवारिक खर्च को कम कर सकते हैं।

नियमित रूप से एक निश्चित मात्रा में बचत करनी चाहिए :-

एक अच्छा बजट वह है जिसमें बचत की गुंजाइश हो। बचत से जमा की गई राशि का उपयोग परिवार के सदस्य अपनी भविष्य की जरूरतों को पूरा करने या आकस्मिक जरूरतों में करते हैं।

धन को सदैव उपयोगी बनाने का प्रयास करना चाहिए:-

बजट बनाते समय यह कोशिश करनी चाहिए कि हम पैसे को अधिक से अधिक उपयोगी बनाएं। परिवार के सदस्यों की जरूरतों को पूरा करने के लिए उपयोग की वस्तुओं पर धन खर्च करना चाहिए।

पारिवारिक बजट के प्रकार :-

पारिवारिक बजट के प्रकार निम्नलिखित हैं:-

संतुलित बजट :-

संतुलित बजट का अर्थ है ऐसा बजट जिसमें आय और व्यय बराबर हों, यानी जिसमें अनुमानित आय और प्रस्तावित व्यय बिल्कुल समान हों। संतुलित बजट एक अच्छा बजट माना जाता है क्योंकि इसमें न तो बचत की जगह होती है और न ही उधार लेने की जरूरत होती है।

घाटे का बजट :-

घाटे का बजट बचत के बजट के बिल्कुल विपरीत होता है। घाटे के बजट में अनुमानित आय कम और प्रस्तावित व्यय अधिक होता है। इस प्रकार का बजट परिवार के लिए हानिकारक होता है। इस बजट में खर्च करने के लिए परिवार के सदस्यों को उधार लेना पड़ता है। इस प्रकार का बजट परिवार के सदस्यों में आर्थिक असुरक्षा की भावना पैदा करता है।

बचत का बजट :-

इस प्रकार के बजट में अनुमानित आय अधिक तथा प्रस्तावित व्यय कम होता है। इस प्रकार के बजट से परिवार में बचत होती है और परिवार के सदस्यों में वित्तीय सुरक्षा की भावना पैदा होती है।

औसत बजट :-

औसत बजट से तात्पर्य ऐसे बजट से है जो किसी विशेष वर्ग के सभी परिवारों की औसत आय और व्यय बताता है। यह बजट इस वर्ग की विभिन्न वस्तुओं और सेवाओं पर व्यय की सामान्य प्रवृत्ति का अंदाजा देता है।

वास्तविक और सैद्धांतिक बजट :-

वास्तविक बजट से तात्पर्य उस बजट से है जिसमें किसी परिवार की आय और व्यय का वास्तविक विवरण दिया जाता है। इसके माध्यम से हम परिवार की आर्थिक स्थिति यानी परिवार की आय और व्यय की वर्तमान स्थिति का सही अनुमान लगा सकते हैं।

यह हर परिवार के लिए समान नहीं है और हर महीने एक ही परिवार के लिए समान नहीं है, क्योंकि परिवारों की ज़रूरतें बदलती रहती हैं। सैद्धांतिक बजट से तात्पर्य एक विशेष श्रेणी के परिवारों के वांछित व्यय के रूपरेखा से है।

मात्रा एवं मूल्य बजट :-

मात्रा एवं मूल्य बजट का अर्थ उस बजट से है जिसमें एक निश्चित समय पर एक परिवार द्वारा खरीदी गई वस्तुओं और सेवाओं की मात्रा और उनकी कीमतों का विवरण होता है। इसमें जीवन यापन की लागत और उसमें होने वाले बदलावों का सटीक अनुमान लगाया जा सकता है।

मानक या आदर्श बजट:-

यह बजट औसत परिवार के लिए आदर्श व्यय की रूपरेखा बताता है। इनमें से कुछ को आदर्श माना जाता है और इन्हीं के आधार पर घरेलू बजट बनाया जाता है।

पूर्ण या आंशिक बजट:-

जब व्यक्ति पूरे खर्च यानी छोटे-बड़े सभी खर्चों की योजना बनाते हैं तो उसे पूर्ण बजट कहा जाता है। कभी-कभी व्यक्ति छोटे-छोटे दैनिक खर्चों के लिए कोई योजना नहीं बनाता, केवल प्रमुख मदों पर ही व्यय की योजना बनाता है, ऐसे बजट को आंशिक बजट कहा जाता है।

पारिवारिक बजट के लाभ :-

पारिवारिक व्यय के लिए पारिवारिक बजट निर्माण के कई लाभ हैं। जो इस प्रकार हैं:

बजट से पारिवारिक आय का उचित वितरण होता है:-

हर परिवार में पैसा एक सीमित संसाधन है, लेकिन ज़रूरतें असीमित हैं। बजट का मुख्य उद्देश्य सीमित पारिवारिक आय वाले परिवार के सदस्यों की जरूरतों को पूरा करना है।

बजट की मदद से हम अपनी पारिवारिक आय को प्राथमिकता के अनुसार विभिन्न मदों में उचित रूप से वितरित करते हैं और खर्च करने के बाद कुछ बचा भी लेते हैं, जिसका उपयोग भविष्य में आकस्मिक जरूरतों के लिए किया जा सकता है।

बजट अनावश्यक खर्चों को पहचानने और कम करने में मदद करता है :-

बजट की मदद से हम यह पता लगा सकते हैं कि किस मद में कितना पैसा खर्च किया जा रहा है। एक बार अनावश्यक वस्तुओं की पहचान हो जाने पर, उन वस्तुओं को हटाया या रोका जा सकता है।

एक अच्छा बजट दीर्घकालिक लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करता है :-

परिवार के सदस्यों की जरूरतें पूरी करने के बाद कुछ रकम बच जाती है। उस बचत का उपयोग भविष्य में दीर्घकालिक लक्ष्यों जैसे घर बनाना, पिछले ऋणों का भुगतान करना आदि के लिए किया जा सकता है। इसलिए, एक अच्छे बजट के साथ, हम दीर्घकालिक व्यय के लिए धन एकत्र कर सकते हैं।

बजट परिवार के लिए वित्तीय मार्गदर्शक के रूप में कार्य करता है:-

बजट परिवार के लिए वित्तीय मार्गदर्शक के रूप में कार्य करता है। बजट हमें बताता है कि हमारी आय कितनी है और हमने कितना खर्च किया है। बजट हमें गैर-जरूरी वस्तुओं पर होने वाले खर्च के बारे में भी बताता है।

पुराने बजट से यह भी पता चलता है कि हमने कुछ खास मदों पर कितना खर्च किया। बजट से पता चलता है कि हम अपनी आय का सदुपयोग कर रहे हैं या नहीं। यह हमें भविष्य में बचत करने में भी मदद करता है।

बजट जीवन में सबसे आवश्यक वस्तुओं को निर्धारित करने में मदद करता है :-

एक अच्छा बजट हमें यह निर्धारित करने में मदद करता है कि हमें अपने जीवन में किस चीज़ की सबसे अधिक आवश्यकता है। बजट हमें हमारी वास्तविक आय बताता है और अपनी आय के अनुसार ही हम तय करते हैं कि हमें किस मद में खर्च करना है।

पारिवारिक बजट की मुख्य मद :-

पारिवारिक बजट की मुख्य मद निम्नलिखित हैं:-

भोजन –

भोजन परिवार के बजट की एक महत्वपूर्ण मद है। इस मद में अनाज, फल, तेल, दूध, घी, मसाले आदि पर होने वाला खर्च शामिल है। परिवार के सदस्य घर से बाहर होटल, कैंटीन आदि में जो भी खाना खाते हैं, वह खर्च भी इस मद में शामिल होता है।

इस मद में होने वाला खर्च परिवार की आर्थिक स्थिति पर भी निर्भर करता है। प्रत्येक परिवार की आय का एक बड़ा हिस्सा इसी मद में खर्च होता है इसलिए गृह प्रबंधक को ऐसा बजट बनाना चाहिए जिससे परिवार के प्रत्येक सदस्य को सीमित आय में भी पौष्टिक भोजन मिल सके।

आवास –

प्रत्येक परिवार अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार आवास की व्यवस्था करता है। व्यक्ति या तो अपने आवास में रहते हैं या किराए के घर में रहते हैं। इसमें घर का किराया, मरम्मत का खर्च, पेंटिंग, बिजली का खर्च आदि का खर्च शामिल है। अगर घर लोन लेकर या किस्तों में लिया गया है तो उस रकम की व्यवस्था भी इसी मद में आती है।

कपड़ा –

इस मद के अंतर्गत परिवार के सदस्यों के कपड़े, जूते, चप्पल, पर्दे, चादरें, तौलिये आदि पर व्यय किया जाता है। इसमें कपड़ों की सिलाई का खर्च भी शामिल है।

स्वास्थ्य

इस मद में परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य संबंधी खर्च जैसे डॉक्टर की फीस, दवाएँ, अस्पताल की फीस आदि शामिल हैं।

शिक्षण –

इस मद में स्कूल और विश्वविद्यालय शिक्षा के सभी खर्च शामिल हैं। स्कूल की फीस, किताबें, स्टेशनरी, कंप्यूटर, शैक्षणिक यात्राएं, हॉस्टल, ट्यूशन आदि पर होने वाला खर्च इसके अंतर्गत आता है।

परिवहन –

इसके तहत हर सदस्य की यात्रा का खर्च शामिल होता है। इसमें निजी और निजी वाहन के ईंधन, मरम्मत, रखरखाव की लागत भी शामिल है।

मनोरंजन –

मनोरंजन पर किया जाने वाला खर्च परिवार की आर्थिक स्थिति, परिवार के सदस्यों की उम्र, लिंग और शिक्षा पर निर्भर करता है। इसमें पिकनिक, टीवी, सिनेमा, नाटक, रेडियो, मनोरंजक पर्यटन आदि पर खर्च शामिल है।

बचत –

परिवार में आकस्मिकताओं और आवश्यक खर्चों जैसे विवाह, रोग, उच्च शिक्षा आदि के लिए बचत करना आवश्यक है। परिवार के सभी सदस्यों की सभी जरूरतों को पूरा करने के बाद परिवार की आय से जो राशि बचती है उसे बचत कहा जाता है। आय का एक निश्चित भाग अनिवार्य रूप से इस मद में डाला जाता है।

अन्य घरेलू खर्च –

परिवार को समय-समय पर कई तरह के खर्च करने पड़ते हैं, जैसे घर का रख-रखाव, फर्नीचर का खर्च, घर की साज-सज्जा में होने वाला खर्च आदि इस मद में शामिल होते हैं।

संक्षिप्त विवरण :-

“बजट” हमारे दैनिक जीवन में एक परिचित शब्द है। बजटिंग के माध्यम से हम एक निश्चित समय के लिए अपने परिवार की आय का अनुमान लगाते हैं और यह तय करते हैं कि इसे किस मद में और कैसे खर्च किया जाना चाहिए ताकि परिवार के सदस्यों की ज़रूरतें पूरी हो सकें।

बजट बनाते समय हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हम आय से अधिक खर्च न करें और सबसे पहले आवश्यक वस्तुओं पर खर्च करें। बजट में बचत के लिए भी जगह होनी चाहिए क्योंकि बचत से ही दीर्घकालिक लक्ष्य हासिल किए जा सकते हैं।

पारिवारिक बजट बनाने के कई फायदे हैं जैसे बजट पारिवारिक आय का उचित वितरण है, यह हमें अनावश्यक खर्चों को पहचानने और कम करने में मदद करता है, बजट के माध्यम से हम अपने परिवार के सदस्यों के लक्ष्यों और जरूरतों को प्राप्त कर सकते हैं, आदि।

आय, परिवार का आकार और संरचना, परिवार के सदस्यों का व्यवसाय, पारिवारिक जीवन चक्र के चरण बजट निर्माण को प्रभावित करते हैं।

FAQ

पारिवारिक बजट कितने प्रकार का होता है?

पारिवारिक बजट का सिद्धांत किसने प्रस्तुत किया?

पारिवारिक बजट का मुख्य मद क्या है?

पारिवारिक बजट के लाभ बताइए?

Share your love
social worker
social worker

Hi, I Am Social Worker
इस ब्लॉग का उद्देश्य छात्रों को सरल शब्दों में और आसानी से अध्ययन सामग्री उपलब्ध कराना है।

Articles: 553

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *