बजट क्या है? बजट का अर्थ एवं परिभाषा, उपयोग

प्रस्तावना :-

बजट एक वित्तीय या संरक्षात्मक विवरण है जो एक निश्चित अवधि के लिए बनाया जाता है। तथा यह निर्धारित अवधि में एक निर्दिष्ट नीति के अनुसार उद्देश्य की प्राप्ति का उल्लेख करता है। यह एक तुलनात्मक तालिका है जिसमें एकत्र किए जाने वाले राजस्व और खर्च किए जाने वाले धन शामिल हैं। इसके अलावा, यह आय एकत्र करने और खर्च करने के लिए उपयुक्त अधिकारियों द्वारा दिया गया एक आदेश या अधिकार है। यह एक उपकरण है जिसमें सरकार की आय और व्यय की प्रारंभिक रूप से स्वीकृत योजना होती है।

बजट का अर्थ :-

बजट शब्द की उत्पत्ति फ्रांसीसी शब्द ‘बुजट’ से हुई है, जिसका अर्थ होता है चमड़े का बैग या थैला। आधुनिक अर्थ में इस शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग इंग्लैंड में १७३३ ई. में हुआ, जबकि जब वित्त मंत्री ने लोक सभा के समक्ष अपनी वित्तीय योजना प्रस्तुत की तो इस शब्द का प्रयोग वार्षिक आय-व्यय के वित्तीय विवरण के लिए किया गया। बजट आने वाली अवधि के निर्धारित कार्यों के पूर्वानुमान को संदर्भित करता है।

बजट भविष्य के लिए एक निश्चित अवधि के संबंध में बनाया जाता है। यह निर्धारित करता है कि उस भविष्य की अवधि में क्या कार्य किया जाएगा और कैसे किया जाएगा। इस प्रकार, बजट भविष्य के कार्यों का पूर्वानुमान है।

अक्सर यह समझा जाता है कि बजट केवल भविष्य की आय और भविष्य के व्यय का पूर्वानुमान होता है, लेकिन वास्तव में ऐसा कहना सही नहीं है। बजट भविष्य में की जाने वाली सभी प्रकार की गतिविधियों का पूर्वानुमान है। बजट अवधि के अंत में, लक्ष्यों की वास्तविक उपलब्धियों के साथ तुलना की जाती है ताकि यह पता लगाया जा सके कि बजट लक्ष्यों को पूरा किया गया है या नहीं।

बजट की परिभाषा :-

बजट को और भी स्पष्ट करने के लिए कुछ प्रमुख विद्वानों की परिभाषाओं का उल्लेख कर सकते हैं –

“बजट एक प्रभाव है जिसके द्वारा व्यक्तियों और विभागों की वास्तविक सफलताओं को मापा जाता है।”

व्हेलडन

“बजट एक ही हुई प्रबंधन नीति का एक पूर्व निर्धारित विवरण है जो वास्तविक परिणामों में तुलना के लिए एक माप प्रदान करता है।”

ब्राउन व हावर्ट

“बजट निर्मित उत्पाद की भाँति होते हैं। वे भावी क्रियाओं और अनुमानित उपलब्धियों की औपचारिक योजना होते हैं। बजट वास्तव दूरदर्शिता और नियोजन के परिणाम ही होते हैं। “

हैरी एल बिली

“बजट एक प्रकार का अनुमान है। जो एक विशिष्ट भविष्य की अवधि के लिए पहले बनाए जाते हैं।”

क्लेरेन्स ए. वान सिथिल

बजट के आवश्यक तत्व :-

बजट में निम्नलिखित आवश्यक तत्व शामिल हैं:

  • बजट में लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं।
  • बजट लक्ष्यों को आंकड़ों के रूप में रखा जाता है।
  • यह आने वाली अवधि के लिए पूर्वानुमान की होते है।
  • बजट में लक्ष्यों के अलावा नीतियों का भी जिक्र होता है।
  • बजट में निर्धारित लक्ष्यों और नीतियों का निर्धारण तथ्यों के आधार पर किया जाता है।
  • एक बजट एक सामान्य बजट हो सकता है जिसमें सभी लक्ष्य और नीतियां शामिल होती हैं या यहां तक कि एक बजट किसी विशिष्ट कार्य या उद्देश्य के लिए बनाया जाता है।
  • बजट एक निश्चित अवधि के लिए बनाया जाता है। यह अवधि कितनी भी हो सकती है, लेकिन आमतौर पर यह एक वर्ष की होती है। लंबी अवधि के बजट को छोटी अवधि में विभाजित किया जा सकता है।

बजट का उपयोग :-

बजट बनाने के कई उपयोग हैं। बजट बनाने में हर संस्थान का उद्देश्य समान नहीं होता है। रॉबर्ट एंथोनी के अनुसार बजट का उपयोग कहीं नियन्त्रण की भूमिका निभाने के लिए किया जाता है तो कहीं यह विभिन्न विभागों के मध्य समन्वय एवं संचार का कार्य करता है। बजट के आम तौर पर निम्नलिखित उपयोग होते हैं:

नियोजन –

बजट का सबसे प्रमुख उपयोग नियोजन है। संस्था के उद्देश्यों को निर्धारित करने और इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए आवश्यक संगठन व्यवस्था करने की क्रिया को नियोजन कहा जाता है। नियोजन में भविष्य के लिए योजनाएँ बनाना और उस योजना में निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने का प्रयास करना शामिल है।

यदि देश की दृष्टि से देखा जाए तो कहा जा सकता है कि देश में उपलब्ध संसाधनों का उपयोग देश के विकास के लिए करने की योजनाएँ बनाई जाती हैं। वे बजट योजना बनाने में सहायक होते हैं। निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने में बजट भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विभिन्न आर्थिक गतिविधियों के माध्यम से योजना को सफल बनाने का प्रयास किया जाता है। वास्तविक स्थिति और बजट लक्ष्यों की तुलना करके भी असंतुलन या कमी को जाना जा सकता है। बजट इस असंतुलन या कमी को दूर करने की योजना बनाने में भी सहायक होता है।

नियंत्रण –

नियंत्रण किसी भी अर्थव्यवस्था के लिए एक आवश्यक गतिविधि है। केवल योजना बनाने से ही कार्य नहीं होता, बल्कि यह भी देखना होता है कि कार्य पूर्व निर्धारित योजना के अनुसार हो रहा है या नहीं। यदि कार्य पूर्व निर्धारित योजनाओं के अनुसार नहीं हो पा रहे हैं तो उन पर नियंत्रण करना आवश्यक है ताकि कार्य को सही दिशा दी जा सके। बजट द्वारा नियंत्रण का काम शामिल है। जिसे बजटीय नियंत्रण कहते हैं।

बजट नियंत्रण बजट रखरखाव की वास्तविक परिणामों के साथ तुलना करता है ताकि यह पता लगाया जा सके कि लक्ष्यों को पूरा किया गया है या नहीं। यदि लाभ नहीं मिलता है, तो कारणों को जाना और नियंत्रित किया जाता है। इस प्रकार बजट नियंत्रण में यह देखा जाता है कि कहाँ कार्य ठीक से हो रहा है और कहाँ कार्य नहीं हो रहा है तथा कहाँ कार्य बेहतर नहीं हो रहा है, सुधार के लिए आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं या नहीं।

संचार –

बजट संचार के रूप में भी कार्य करता है। बजट बनाने के बाद उसकी एक प्रति सभी विभागों को दी जाती है। इससे प्रत्येक विभाग अपने उद्देश्यों, योजनाओं, लक्ष्यों आदि को स्पष्ट करता है। प्रत्येक विभाग को पता चलता है कि उसके व्यय की सीमाएँ क्या हैं और इस व्यय के माध्यम से उसे किन लक्ष्यों तक पहुँचना है। इसलिए बजट सभी विभागों तक सभी सूचनाओं को पहुंचाकर संवाद करने का भी काम करता है।

समन्वय –

समन्वय भी एक क्रिया है जिसे बजट द्वारा सरल किया जाता है। समन्वय एक ऐसी पद्धति है जिससे प्रत्येक विभाग अपने हित में नहीं अपितु पूरे देश के हित में कार्य करता है जिससे सभी विभागों में आपसी सहयोग एवं समन्वय बना रहता है।

बजट निर्माण में समन्वय का कार्य स्वत: पूर्ण हो जाता है क्योंकि बजट निर्माण की प्रक्रिया में सभी विभागों के अधिकारी सक्रिय रूप से भाग लेते हैं। बजट बनाते समय सभी क्षेत्रों और विभागों की समस्याओं, उद्देश्य और संभावनाओं को ध्यान में रखा जाता है। अतः समन्वय का कार्य बजट से स्वत: ही पूर्ण हो जाता है।

उत्प्रेरणा –

बजट विभिन्न विभागों में कार्यरत व्यक्तियों के लिए एक उत्प्रेरणा के रूप में भी कार्य करता है। जब सभी लोग जानते हैं कि उनकी उपलब्धियों की तुलना लक्ष्यों से की जाएगी, यदि उपलब्धियां लक्ष्यों से कम हैं, तो उन्हें दोषी माना जाएगा और उन्हें इसका श्रेय दिया जाएगा, यदि उपलब्धियां लक्ष्यों से अधिक हैं, तो वे बनाने की कोशिश करते हैं जितना संभव हो । इस तरह बजट एक प्रोत्साहन के रूप में भी काम करता है।

इस प्रकार बजट के कई उपयोग हो सकते हैं। इसी कारण बजट का महत्व न केवल देश की अर्थव्यवस्था में बल्कि सभी व्यावसायिक संस्थानों में भी बढ़ रहा है। लेकिन कोई स्वचालित बजट प्रक्रिया नहीं है। जिससे ये सभी उपयोग स्वतः प्राप्त हो जाते हैं। बजट के सभी उपयोगों का लाभ प्राप्त करने के लिए बजट बनाने और लागू करने में बहुत सतर्कता की आवश्यकता होती है।

FAQ

बजट क्या होता है?

बजट का उपयोग क्या है?

Share your love
social worker
social worker

Hi, I Am Social Worker
इस ब्लॉग का उद्देश्य छात्रों को सरल शब्दों में और आसानी से अध्ययन सामग्री उपलब्ध कराना है।

Articles: 553

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *